PNB SCAM: नीरव मोदी के ठिकानों पर आईटी की छापेमारी, पासपोर्ट रद्द, न्यूयॉर्क में छिपे होने की संभावना

सरकार ने नीरव मोदी के 11356 करोड़ के घोटाले में सख्ती दिखाते हुए सरकार के विभिन्न विभागों ने नीरव मोदी की संपत्ति जब्त की ।

छापेमारी        स्थान
ईडी               35
सीबीआई        26
इन्कमटैक्स     29 प्रॉपर्टी 105 अकाउंट फ्रीज
550 करोड़ की ज्वेलरी गिरफ्त में ली गई 5650 करोड़ की संपत्ति जब्त की गयी ।

दो PNB अधिकारियों पर FIR व गिरफ्तार
गोकुलनाथ सेठी और हेमंत करात पर 4857 करोड रुपए के अनाधिकृत विदेशी लेनदेन व क्रेडिट लेटर जारी करने के आरोप में FIR दर्ज की गई व गिरफ्तार कर लिया गया ।

पासपोर्ट रद्द

विदेश मंत्रालय ने नीरव मोदी का पासपोर्ट 4 सप्ताह के लिए सस्पेंड कर दिया है ।

यह भी पढ़े :हनी ट्रैप: भारतीय एयरफोर्स के ट्रेनिंग व युद्ध अभ्यास के दस्तावेज पहुंचे ISI पाकिस्तान तक, एयरफोर्स ग्रुप कैप्टन अरेस्ट

न्यूयॉर्क है ठिकाना
नीरव मोदी अपने परिवार के साथ न्यूयॉर्क जे डब्ल्यू होटल के एक सुइट में रहते हैं । जिसके 1 दिन का किराया 75,000 है। जिसे नीरव मोदी ने 90 दिन के लिए बुक कराया है ।

इंटरपोल जारी करे ‘डिफ्यूजन नोटिस’
सीबीआई ने इंटरपोल से ‘डिफ्यूजन नोटिस’ जारी करने के लिए कहा है। जिससे नीरव मोदी का पता लगाने में आसानी हो ।

यह भी पढ़े : पर्यावरण परिवर्तन, अच्छे बुरे आतंकवाद व देशो के आत्मकेंद्रण पर रहा मोदी का WEF भाषण

गीतांजलि ग्रुप प्रमोटर पर भी FIR दर्ज

गीतांजलि ग्रुप प्रमोटर मेहुल चौकसी पर भी PNB स्कैम में शामिल होने के लिए FIR दर्ज की गई है। वह गीतांजलि जेम्स के मुंबई स्थित 17 स्थानों पर छापेमारी की गई जिसमें से 6 संपत्तियों को सील कर दिया गया है ।

गीतांजलि ग्रुप के तीन कंपनियों पर FIR दर्ज
गीतांजलि जेम्स
गिली इंडिया
नक्षत्र

23 फरवरी का नीरव मोदी व मेहुल चोकसी को समन

मनी लॉन्ड्रिंग एक्ट के तहत नीरव व चौकसी को 23 फरवरी के लिए ईडी ने समन जारी किया है ।

यह भी पढ़े : MOVIE REVIEW Padman : सेनेटरी पैड की अहमियत बता रहे हैं अक्षय कुमार

इलाहाबाद बैंक के पूर्व डायरेक्टर का महत्वपूर्ण बयान

इलाहाबाद बैंक के पूर्व इंडिपेंडेंट डायरेक्टर दिनेश दुबे ने कहा है कि उन्होंने गीतांजलि जेम्स के अवैध लोन को लेकर नोट यूपीए सरकार को लिखा था । लेकिन इस पर कोई कार्यवाही नहीं की गई बल्कि मुझ पर लोन जारी कराने का दबाव बनाया गया । वह इस कारण मैंने इस्तीफा दे दिया । वह वर्तमान एनडीए सरकार चाहती तो घोटाले की राशि को बढ़ने से रोका जा सकता था ।

Please share:

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*


Powered by Live Score & Live Score App