हनी ट्रैप: भारतीय एयरफोर्स के ट्रेनिंग व युद्ध अभ्यास के दस्तावेज पहुंचे ISI पाकिस्तान तक, एयरफोर्स ग्रुप कैप्टन अरेस्ट

भारतीय एयरफोर्स के ग्रुप कैप्टन अरुण मारवाह ( 51) को आई एस आई पाकिस्तान को भारतीय एयरफोर्स से संबंधित गुप्त जानकारी साझा करने के आरोप में 31 जनवरी को एयरफोर्स ने हिरासत में ले लिया।

यह भी पढ़े : MOVIE REVIEW Padman : सेनेटरी पैड की अहमियत बता रहे हैं अक्षय कुमार

कैसे फंसा ऑफिसर हनी ट्रैप में ?

आई एस आई ने किरण रंधावा व महिमा पटेल के Facebook अकाउंट के जरिए ग्रुप कैप्टन अरुण मारवाह के Facebook अकाउंट पर इन मॉडल्स की तस्वीरें भेजी । जिस भ्रम जाल में फंसकर धीरे-धीरे अरुण मारवाह ने WhatsApp पर वीडियो चैट करते हुए अंतरंग बातें की। वह इन मॉडलों के संपर्क व प्रभाव के चलते अरुण मारवाह एयरफोर्स की खुफिया जानकारी इन मॉडलों को देने की बात स्वीकार कर ली ।

क्या खुफिया जानकारी दी ?

जानकारी के अनुसार अरुण मारवाह ने “गगन शक्ति” वायु सेना अभ्यास की जानकारी दी। इसके अलावा ट्रेनिंग और युद्धाभ्यास से संबंधित दस्तावेज की जानकारी WhatsApp के जरिए दी।

यह भी पढ़े : ताइवान :भूकंप से हवा में झूल रही है इमारतें

केस दर्ज
अरुण मारवाह ( ग्रुप कैप्टन) पर ऑफिसियल सीक्रेट एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया है।

पटियाला कोर्ट में पेशी

दिल्ली के पटियाला हाउस कोर्ट में अरुण मारवाह को पेश करने के पश्चात कोर्ट ने ग्रुप कैप्टन अरुण मारवाह को 5 दिन की पुलिस कस्टडी में भेज दिया है। स्पेशल सेल के द्वारा पूछताछ की जा रही है।

यह भी पढ़े : Auto Expo 2018 – इलेक्ट्रिक व आधुनिक तकनीक युक्त कारों व मोटर साइकिलों का मेला

हनी ट्रैप के मामलों का पूर्ववर्ती इतिहास

पाटन कुमार पोद्दार (40) भी अनुष्का अग्रवाल नाम की लड़की के साथ हनी ट्रैप का शिकार हो चुके हैं।

रंजीत के के नाम के एयर मैन को भी 2015 में हनी ट्रैप मामले में गिरफ्तार किया जा चुका है।

यह भी पढ़े : अमेरिकी थिंक टैंक : इज ऑफ डूइंग बिजनेस में भारत की रैंकिंग भ्रामक, सर्वे प्रणाली गलत

Please share:

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*


Powered by Live Score & Live Score App