मालदीव इमरजेंसी: चीफ जस्टिस गिरफ्तार, भारत से मदद की गुहार

मालदीव की राजनीति में उथल-पुथल का माहौल है। जहां चीफ जस्टिस गिरफ्तार हो चुके हैं। वहीं सेना घर-घर में छापे मार रही है। लोगों के सभी अधिकार छीन लिए गए हैं यह सब गतिविधियां मालदीव में 15 दिन की इमरजेंसी लागू होने के कारण हुई है।

इमरजेंसी के कारण

 – मालदीव के पूर्व राष्ट्रपति मोहम्मद नशीद समेत नौ राजनीतिक व्यक्तियों पर चल रहे मामलों से उन्हें रिहा कर दिया गया था।

– मालदीव कोर्ट ने अब्दुल्ला यामीन की पार्टी से बर्खास्त 12 लोगों के खिलाफ चल रहे मामले मामलों को भी वापस ले लिया था ।

– राष्ट्रपति अब्दुल्ला यामीन ने इन फैसलों को फैसलों को लागू होने से रोकने के लिए और लोगो के विरोध को देखते हुए मालदीव् में 15 दिन की इमरजेंसी लागू कर दी ।

जम्मू :कुपवाड़ा माछिल सेक्टर मे एवलांच मे 3 जवान शहीद 1 घायल

चीफ जस्टिस गिरफ्तार

– सरकार विरोधी फैसलों के चलते 5 में से 3 जजों को गिरफ्तार कर लिया गया है ।

– गिरफ्तार जज : (1 )अब्दुल रशीद (2 ) अली हमीद

– अन्य तीन जजों ने नशीद समेत नौ राजनीतिक कैदियों के गिरफ्तारी के आदेश वापस ले लिए हैं ।

गणतंत्र दिवस : 10 ASEAN प्रमुखों ने देखे स्लाइडिंग छत के नीचे सीमा भवानी के करतब , 18000 फ़ीट पर जवानों ने फहराया तिरंगा

निर्वासित पूर्व राष्ट्रपति मोहम्मद नशीद

– मालदीवियन डेमोक्रेटिक पार्टी (वर्तमान में श्रीलंका से संचालित) के नेता मोहम्मद नशीद 2008 में मालदीव में लोकतंत्र लागू होने के पश्चात राष्ट्रपति बने ।

– 2015 में आतंकवादी विरोधी कानून मामले के कारण उन्हें राष्ट्रपति पद छोड़ना पड़ा वर्तमान में निर्वासित जीवन ब्रिटेन में बिता रहे हैं।

भारत से मदद की गुहार

पूर्व राष्ट्रपति नशीद ने भारत से मदद की अपील करते हुए कहा है कि भारत मालदीव में दूत नियुक्त कर भारतीय सेना भेजें और हालात पर नियंत्रण करें ।

चारा घोटाला -लालू यादव को 6 मे से 3 मामलो मे सजा, चाईबासा मामले मे 5 साल की कैद 5 लाख जुर्माना

प्रतिक्रिया

भारत ने मालदीव के हालात पर चिंता जाहिर की है ।लेकिन सेना भेजने के मामले पर कुछ नहीं कहा हैं।

माली ना जाए

भारतीय सरकार ने भारतीयों को मालदीव के वर्तमान हालात को देखते हुए माली न जाने की सलाह दी है।

चीन ने जाहिर की चिंता

चीन ने भी मालदीव में अपने देश के नागरिकों को सुरक्षा को लेकर चिंता जाहिर करते हुए मालदीव सरकार से चीनी नागरिको की सुरक्षा की मांग की है।

Please share:

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*


Powered by Live Score & Live Score App