अमेरिकी थिंक टैंक : इज ऑफ डूइंग बिजनेस में भारत की रैंकिंग भ्रामक, सर्वे प्रणाली गलत

सेंटर फॉर डेवलपमेंट (अमेरिकी थिंक टैंक) ने वर्ल्ड बैंक द्वारा इज ऑफ डूइंग बिजनेस अर्थात व्यापार करने में आसान प्रणाली में भारत की रैंकिंग जो 2016 में 130 थी ।वह 2017 में 100 हो गई को सिरे से नकार दिया है ।

अस्थायी रूप से टला US का शटडाउन संकट, फंडिंग बिल पास

सर्वे प्रणाली में अंतर

अमेरिकी थिंक टैंक के अनुसार यदि सर्वे पुरानी प्रणाली (method) से होता तो भारत की वर्तमान रैंक 134 होती है। लेकिन वर्ल्ड बैंक ने सर्वे के पैरामीटर बदल दिए। जिससे भारत की रैंकिंग उछलकर 100 पर पहुंच गई है ।

वर्ल्ड बैंक रिपोर्ट

इज ऑफ़ डूइंग बिजनेस 2018 :”कमिंग टू क्रिएट जॉब्स” रिपोर्ट के अनुसार भारत में पिछले 4 सालों में लगभग 18 बड़े सुधार किए हैं । जिसके चलते भारत की रैंकिंग 100 पर पहुंची है।

वर्ल्ड बैंक सर्वे पहले भी विवाद में

वर्ल्ड बैंक रिपोर्ट को लेकर वर्ल्ड बैंक के अर्थशास्त्री पॉल रोमर जनवरी मे इस्तीफा दे चुके हैं। पॉल रोमर ने इस्तीफा देने का कारण सर्वे की रिपोर्ट में राजनीतिक हस्तक्षेप को बताया। वर्ल्ड बैंक ने कहा है वो अपने पिछले 4 सालो के सर्वे की दुबारा जांच करवाएंगे ।

पर्यावरण परिवर्तन, अच्छे बुरे आतंकवाद व देशो के आत्मकेंद्रण पर रहा मोदी का WEF भाषण

मोदी ने साधा प्रचार

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इज ऑफ डूइंग बिजनेस में भारत की रैंकिंग 100 को लेकर कह चुके हैं कि भारत विश्व की अग्रिम अर्थव्यवस्था बनने की कतार में गतिशील है ।

source

ट्विटर पर तारीफ

मोदी ट्विटर पर भारत की इज ऑफ डूइंग बिजनेस रैंकिंग को लेकर कह चुके है कि उनके नेतृत्व में भारत ने रैंकिंग मे जबरदस्त सुधार किया है। जो कि उनके द्वारा नीतियों में सुधार का परिणाम है।

कांग्रेस कल्चर से मिले मुक्ति, लोकलुभावन नहीं होगा बजट ,पाक केंद्रित नहीं विदेश नीति -मोदी

Please share:

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*


Powered by Live Score & Live Score App